IND vs BAN: बांग्लादेश की जीत के हीरो ने बताया कैसे भारतीय टीम की मुठ्ठी से छीन लिया जीता हुआ मुकाबला

 IND vs BAN 1st ODI

भारत और बांग्लादेश टीम के बीच में 3 मैचों की ODI सीरीज की शुरुआत बहुत ही रोमांचक रही है। शेर ए बांग्ला में खेला गया मैच लो स्कोरिंग जरूर था। लेकिन इस मुकाबले में रोमांच का स्तर पूरे 8 घंटों तक ही बना रहा था। टीम इंडिया पहले खेलते हुए महज 186 रन पर ही ढेर हो गई थी। और जवाब में बांग्लादेश टीम की पारी भी लड़खड़ा गई। लास्ट के कुछ समय में मैच ऐसे मोड़ पर आ पहुंचा था। की जहां से कोई भी मुकाबला जीत सकता था।

लेकिन भारत की इस जीत के बीच में सबसे बड़ी दीवार बनकर मेहदी हसन मिराज खड़े रहे। ओर उन्होंने 38* रन बनाए। और 10वें विकेट के लिए मुस्तफिजुर रहमान के साथ में मिलकर मैच विनिंग साझेदारी कर डाली। इस मैच में जब बांग्लादेश टीम का स्कोर 40वें ओवर में 128 पर 4 विकेट से 136 रन पर 9 विकेट हो गया था। और अनुभवी बल्लेबाज महमूदुल्लाह ओर मुशफिकुर रहीम भी लगातार गेंदों पर आउट हो चुके थे।

भारत के फैंस ही नहीं बल्कि बांग्लादेश टीम को भी ऐसा लग रहा था। कि टीम इंडिया यह मुकाबला आसानी से जीत सकती है। लेकिन क्रिकेट को अनिश्चितताओं का खेल कहा जाता हैं। यह इस मुकाबले में मुस्तफिजुर रहमान और मेहदी हसन मिराज की मैच विनिंग साझेदारी ने साबित कर डाला। और मेहदी हसन ने अपनी इस पारी में 4 चौके और 2 छक्के लगाकर बांग्लादेश टीम के लिए बहुत शानदार वापसी भी की है। और उन्होंने मुकाबले के बाद यह बताया कि उन्होंने कैसे भारत के हाथो से जीत को छीन लिया।

मिराज’ ने खोला जीत का राज

मैच के बाद बांग्लादेश टीम की इस जीत के असली हीरो मिराज ने बताया, की ‘मैं वास्तव में बहुत खुश हूं। जब हम क्रीज पर थे तो मुस्तफिजुर रहमान और मैंने यह सोचा था। कि हमें विश्वास थोड़ा रखने की जरूरत है। मैंने उन्हें केबल शांत रहने को ही कहा। और 20 गेंदें खेलने के लिए भी कहा। फिर मैं एक क्षेत्र पर ही ध्यान केंद्रित करने और उस विश्वास करने के बारे में सोच रहा था। ओर” प्लेयर ऑफ द मैच हसन ने कहा,’इस समय मैं गेंदबाजी का बहुत मजा ले रहा हूं।

मैंने गेंद से विकेट लेने की कोशिश काफी की। मैंने गेंदबाजी का पूरी तरह से आनंद उठाया हैं। यह प्रदर्शन वास्तव में मेरे लिए बहुत यादगार रहेगा है।” टीम इंडिया इस मुकाबलो में जीत के काफी नजदीक पहुंच गई थी। बांग्लादेश की टीम ने 136 पर 9वां विकेट भी गंवा दिया था। भारतीय गेंदबाज भी पूरी तरह से हावी थे। और बांग्लादेश के बल्लेबाज उस समय थोड़े सहमे हुए थे। केवल एक विकेट और भारत की जीत। लेकिन ऐसा हो नहीं सका।

मेहदी हसन और मुस्तफिजुर रहमान के बीच में 10वें विकेट के लिए 51 रन की शानदार साझेदारी ने भारत की मुठ्ठी से यह जीता हुआ मुकाबला छीन लिया। और फील्डर्स ने कैच भी छोड़े, दीपक चाहर ने काफी रन लुटा दिए। इसका फायदा बांग्लादेश की टीम ने उठा लिया। ODI में बांग्लादेश की टीम के लिए 10वें विकेट की यह दूसरी सबसे बड़ी साझेदारी रही। वहीं ODI मैचों में सफल रन चेस में 10वें विकेट के लिए चौथी बड़ी साझेदारी रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *