25.3 C
Los Angeles
Saturday, July 20, 2024

Ben Stokes: बेन स्टोक्स ने टेस्ट क्रिकेट में बनाया नया विश्व रिकॉर्ड, टॉप-5 में कोई भारतीय खिलडी नहीं

Ben Stokes new record

इंग्लैंड टीम के टेस्ट कप्तान बेन स्टोक्स ने जबसे टेस्ट क्रिकेट के फॉर्मेट में इंग्लैंड की कप्तानी सोपी है। हर दिन वह एक नया कीर्तिमान स्थापित कर रहे हैं। और उनके नेतृत्व में टीम ने जैसे एक नया अवतार धारण कर लिया हो। टेस्ट क्रिकेट में भी इन दिनों इंग्लैंड टीम टी20 फॉर्मेट के जैसे खेल रही हैं। और इसका पूरा क्रेडिट उनके कप्तान बेन स्टोक्स और टीम के कोच को ही जाता है।

बेन स्टोक्स और ब्रेंडन मैकुल्लम की जोड़ी ने वर्ल्ड में टेस्ट क्रिकेट नए तरह से खेलने की मिसाल दी है। उसका एक जीता हुए उदाहरण है। बेन स्टोक्स का यह विश्व रिकॉर्ड जो की उन्होंने पाकिस्तान की टीम के खिलाफ मुल्तान टेस्ट में अपने नाम किया हैं। बेन स्टोक्स ने अब टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज्यादा छक्कों के मारने के विश्व रिकॉर्ड की बराबरी की है।

उन्होंने अपनी ही टीम के कोच ब्रेंडन मैकुल्लम के 107 छक्कों के एक रिकॉर्ड की बराबरी कर ली है। और बहुत कम पारी खेलने के वजह से वह इस लिस्ट में सबसे ऊपर पहुंच चुके हैं। और सबसे खास बात तो यह है। कि इस लिस्ट के टॉप-5 में एक भी भी भारतीय बल्लेबाज नहीं है।

लेकिन नंबर 6 पर वीरेंद्र सहवाग मोजूद हैं। लेकिन वह भी 100 छक्कों का आंकड़ा तक नही छू सके थे। उन्होंने टेस्ट में 180 पारियों में 91 छक्के जड़े थे। भारतीय क्रिकेटरों में रोहित शर्मा अभी बहुत पीछे हैं जिन्होंने 77 पारियों में ही 67 छक्के जड़ दिए हैं। और मुल्तान टेस्ट में उन्होंने पहली पारी में 30 रन और दूसरी पारी में 41 रन बनाए। इन दोनों ही पारियों में उन्होंने 1-1 छक्का लगाया था।

टेस्ट क्रिकेट में सर्वाधिक छक्के लगाने वाले खिलाड़ी

Ben Stokes is the player to hit most sixes in Test cricket
  • बेन स्टोक्स – 107 छक्के (160 पारी)
  • ब्रेंडन मैकुल्लम – 107 छक्के (176 पारी)
  • एडम गिलक्रिस्ट – 100 छक्के (137 पारी)
  • क्रिस गेल – 98 छक्के (182 पारी)
  • जैक कैलिस – 97 छक्के (280 पारी)

बेन स्टोक्स की कप्तानी में बदली टीम की किस्मत

वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के मौजूदा सत्र में इंग्लैंड टीम का शुरुआत में प्रदर्शन बहुत खराब रहा। और टीम को एशेज में ऑस्ट्रेलिया की टीम ने 4-0 से करारी मात दी थी। उसके बाद वेस्टइंडीज को टीम के खिलाफ भी इंग्लैंड टीम सीरीज हार गई थी। फिर कप्तान जो रूट ने इंग्लैंड की कप्तानी छोड़ दी और कोच ने भी अपने पद से इस्तीफा दे दिया था। इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड ने इसके बाद टेस्ट और सफेद बॉल क्रिकेट में अलग-अलग कोच की कवायद की शुरुआत की।

टेस्ट क्रिकेट की कप्तानी बेन स्टोक्स को दे दी गई और न्यूजीलैंड के दिग्गज ब्रेंडन मैकुल्लम को कोच बना दिया गया। इसके बाद यहीं से इंग्लैंड की किस्मत बदल गई। इस जोड़ी ने आते से पहले टेस्ट मुकाबले में ही एक नए आयाम की शुरूआत कर दी। आजकल सोशल मीडिया पर एक शब्द बहुत ज्यादा चर्चा में रहता है।

बैजबॉल इसकी शुरुआत तब से हुई हैं। जब की इंग्लैंड टीम ने टेस्ट टी20 क्रिकेट वाला अप्रोच दिखाया। और सबसे पहले इंग्लैंड टीम ने न्यूजीलैंड को 3-0 से करारी मात दी थी। फिर भारत को पिछले साल की अधूरी सीरीज के लास्ट टेस्ट मुकाबले में हराकर इस सीरीज को भी बराबर कर लिया था।

वहीं दक्षिण अफ्रीका से एक मुकाबले में हार जरूर देखने को मिली थी। लेकिन टीम ने यहां भी 2-1 से सीरीज अपने नाम कर ली थी। यह हार इंग्लैंड की बेन स्टोक्स और ब्रैंडन मैकुल्लम के कार्यभार संभालने के बाद एकमात्र हार थी। पाकिस्तान में भी इंग्लैंड ने रावलपिंडी टेस्ट मुकाबला अपने नाम किया था। और मुल्तान टेस्ट में वह अभी ड्राइविंग सीट पर ही हैं।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

0FansLike
0FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles